Deepak Saraswat Turned Down The proposal of the national president Of Rashtriya Yuva Munch – saying there is much to learn

ठुकराया राष्ट्रीय अध्यक्ष का प्रस्ताव, बोले सारस्वत ‘अभी बहुत कुछ सीखना बाकी है’

राष्ट्रीय युवा मंच एक अरसे से सामाजिक व राजनैतिक गलियारों में कई मुद्द्दों को लेकर शोर मचता रहा है. लेकिन कई ऐसी संस्थाएं व सामाजिक संगठन प्रभावशाली युवाओं के संचालन से विहीन है. वक़्त आ गया है जब देश व समाज का नेतृत्व युवा पीढ़ी के हाथों में हो. आज युवा टेक्नोलॉजी व स्तर से के माध्यम से आगे बढ़ते जा रहे है, इसलिए अधिकतर संगठन व संस्थाएं युवा संचालकों को अपना प्रतिनिधित्व देना चाहतीं हैं. हाल ही में राष्ट्रीय युवा मंच के शीर्ष प्रमुख श्री प्रथमेश शिंदे ने जानेमाने वक्ता व समाजसेवक दीपक सारस्वत को राष्ट्रीय अध्यक्षता देने का प्रस्ताव दिया. परन्तु सारस्वत बोले ये समय उनका किसी संगठन की बागडोर सँभालने का नहीं बल्कि समाज की आवाज़ उठाने का और सेवा करने का समय है. आज समाज कई समस्याओं से जूंझ रहा है व उनकी आवाज़ उठाने वाले बहुत कम क्रांतिकारी युवा है. समाज को समान व उच्च स्तर पर लाने के लिए सारस्वत ने समय समय पर कई आंदोलन व सभाओं में हिस्सा लिया व संवैधानिक लड़ाई भी लड़ी है. राम मंदिर मिशन, धारा 370, आर्टिकल 15 और आर्टिकल 334 संशोधन के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक अपनी बात पहुंचते भी रहे है. सारस्वत ने  कई सभाएं सम्बोधित भी की हैं और कई आंदोलनों में भी शामिल होते रहे हैं.

 

सारस्वत का कहना है- जब लाखों लोग उनसे सेवा और संघर्ष चाहते है तो किसी संगठन की बागडोर सँभालने का कार्य चुनौती पूर्ण होगा. इसलिए बिना पद के सेवा करने का संकल्प दीपक सारस्वत अपना समय समाज और उनके मुद्दों पर देना चाहते है.

दीपक सोशल मीडिया पर – Deepak Saraswat ‘आवाज़ हिंदुस्तान की’ नामक पेज से कई मुद्दों पर लाइव रहते है, जहाँ उन्हें सुनने वाले लाखों लोग अनुसरण भी करते है.

Twitter पर भी उन्हें -@DirectorDeepak और youtube पर उनसे deepak Saraswat चैनल पर जुडा जा सकता है .

Film Ruhani : The debate on the film Ruhani being created, the story is on the private life of an actress

फिल्म रूहानी के बनने पर विवाद चालू ,कहानी किसी एक्ट्रेस की निजी ज़िन्दगी पर है
फिल्म रूहानी अभी बनना भी शुरू नहीं हुई, की विवादों के घेरे में आ गयी ,बॉलीवुड की जानी मानी एक्ट्रेस सुनीता सिंह ने इल्जाम लगाया है की फिल्म रूहानी की कहानी उनकी जिंदगी पर आधारित है , फिल्म के लेखक रोहित प्यारे ने उनके जीवन के पहलुओं को इस कहानी में उतारा है।
गौरतलब है की फिल्म के निर्देशक दीपक सारस्वत फिल्म रूहानी की शूटिंग की तैयारियों में व्यस्त है, फिर ऐसा विवादित बयान से फिल्म निर्माताओं और कलाकारों में हलचल मच गयी है. हालांकि फिल्म के लेखक और निर्देशक का कहना है की फिल्म की कहानी लिखने के दौरान सुनीता जी को कहानी सुनाई गयी थी, और उन्हें उससे कोई आपत्ति भी नहीं थी, फिल्म के कई पहलु काल्पनिक है और उनका सुनीता जी की कहानी से कोई लेना देना नहीं है।


फिल्म भूत की एक कहानी पर आधारित है, हॉरर के लुक के लिए नए आर्टिस्टों को भी चांस दिया जा रहा है। फिल्म लगभग प्री प्रोडक्शन ख़त्म कर चुकी है, अभी तक कोई खास जानकारी नहीं दी गयी है की फिल्म में और कौन कौन से लोग काम कर रहे है औरइसकी शूटिंग कहा की जायेगी निर्देशक दीपक सारस्वत जल्द ही इस फिल्म को शूट पर ले जाने की घोषणा करने वाले है। देखना ये है की ये विवाद कैसे सुलझेगा , और प्रोडक्शन टीम की तरफ से क्या औपचारिक बयान आता है।